स्वतंत्र भारत मुबारकपुर से अबुल फैज की रिपोर्ट 
(मुबारकपुर) आज़मगढ़ । विश्वप्रसिद्ध संस्था अलजामिअतुल अशरफिया के संस्थापक विश्वप्रसिद्ध सूफी हज़रत अल्लामा शाह अब्दुल अज़ीज़ मुहद्दिस मुरादाबादी का दो दिवसीय उर्स वृहस्पतिवार को सुबह कुरान खानी से शुरू हो गया जिसमें देश प्रदेश के जायरीनों ने भाग लिया और हाफ़िज़ -ए- मिल्लत अलैहिर्रहमा की मज़ार पर पहुंचकर चादर पोशी व गुलपोशी कर अपने कारोबार की तरक़्क़ी व देश प्रदेश की खुशहाली व अमन चैन की दुआएं मांगी।
उर्स के पहले दिन वृहस्पतिवार को सुबह छह बजे बाद नमाज़ फज्र मोहल्ला पुरानी बस्ती स्थित आवास हाफ़िज़ -ए- मिल्ल्त पर क़ुरआन ख्वानी व फातेहा ख्वानी का आयोजन किया गया बाद नमाज़ ज़ोहर दो बजे हाफ़िज़-ए-मिल्लत अलैहिर्रहमा के आवास से जानशीन-ए- हाफिज़े मिल्लत हज़रत मौलाना शाह अब्दुल हफ़ीज़ अज़ीज़ी व उलमाए मशाएख के नेतृत्व में बड़े अक़ीदत व एहतराम के साथ दर्जनों चादरों का जुलूस निकाला गया जिसमें क्षेत्र की आधा दर्जन धार्मिक अंजुमनों  ने हुज़ूर  हाफिजे-ए मिल्लत की शान में
मनकबत ख्वानी व नात ख्वानी का नज़राना पेश कर बारगाहे हाफ़िज़-ए- मिल्लत को मंज़ूम खिराजे अक़ीदत पेश किया जुलूस अपने निर्धारित रास्तों से गुज़रता हुआ अरबी विश्वविद्यालय पहुंचकर हाफ़िज़-ए- मिल्लत की मज़ार पाक पर पहुंचा और उलमाए मशाएख के हाथों चादरपोशी कर संस्था की तरक़्क़ी के साथ ही देश प्रदेश की खुशहाली एंव अमन चैन की दुआएं मांगी गयी। वही पूर्व मंत्री चंद्रदेव राम यादव करेली ने मजार हाफिज दे मिल्लत पर चादरपोशी कर दुआएं मांगी!  मुबारकपुर पुरिव विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने जूलूस में शामिल हो कर मज़ार ए हाफिज़ ए मिल्लत पर चादर पोशी करके देश की तरक्की, खुशहाली और अमन शांति के लिए दुआएं मांगी ।