आजमगढ़ के एसएसपी अनुराग आर्य ने जनपद में माननीय उच्च न्यायालय सम्बन्धी प्रकरणों व चरित्र सत्यापन में लापरवाही बरतने वाले 04 पुलिस कर्मियों को निलम्बित कर, विभागीय प्रारम्भिक जाँच संस्थापित की है। निलंबित किए गए पुलिस कर्मियों में प्रधान लिपिक दुर्गेश सिंह (पुलिस कार्यालय) उ0नि0 मेहरे आलम थाना सिधारी, आरक्षी सत्य प्रकाश थाना सिधारी, आरक्षी धीरज गुप्ता थाना बिलरियागंज (तत्कालीन नियुक्ति थाना सिधारी) शामिल है । बता दें कि जनपद के एक ठेकेदार बृजेंद्र यादव ने हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है, जिसमें आरोप लगाया गया है, कि ठेकेदारी के लाइसेंस का नवीनीकरण चरित्र प्रमाण पत्र के बिना नहीं हो पा रहा है, बृजेंद्र यादव का यह आरोप है कि उनके खिलाफ कोई आपराधिक मुकदमे नहीं है, जबकि उसके भाई बृजेंद्र यादव खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज है, ऐसे में यदि परिवार के किसी के विरुद्ध मुकदमे दर्ज है तो इसमें मामलों में संस्कृति नहीं दी जाती है, इस मामले को हाई कोर्ट ने जिले के अधिकारियों के तत्काल स्पष्टीकरण मांगा था ।