(मार्टिनगंज) आजमगढ़ । दीदारगंज  विधान सभा क्षेत्र के डीहपुर गांव में रविवार देर शाम देश की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले की जयंती बड़े ही हर्षोल्लास पूर्ण वातावरण में मनाई गई। कार्य क्रम के मुख्य अतिथि कैलाश गौतम और विशिष्ट अतिथि राम अजोर गौतम के द्वारा मां सावित्रीबाई फुले के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन कर एवम चित्र पर पुष्प अर्पित कर कार्य क्रम का शुभारंभ किया गया। कुमारी संजना बौध ने  स्वागत गीत गाया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कैलाश गौतम ने उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश की प्रथम महिला शिक्षिका मां सावित्रीबाई फुले ने महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए तमाम कार्य किए। उन्होनें 1863 में वाल हत्या प्रतिबंधक गृह की स्थापना पूना में किया । जिसमें 100 विधवाओं ने 3-4 वर्षो की अवधि में अवैध बच्चों को जन्म दिया, जिनकी देखभाल स्वयं सावित्रीबाई फूले ने मां की तरह किया। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को नोट बुक तथा कलम मुख्य अतिथि के द्वारा दिया गया। कार्यक्रम का संचालन राहुल क्रांति ने तथा कार्य क्रम का आयोजन राम किशोर मौर्या एडवोकेट ने किया। इस अवसर पर संतोष, तोयज राज बौध, विजय कुमार, इंद्राज, राम मिलन यादव, मृगांक शेखर, गुलाब चंद एडवोकेट, उमेश सिंह एडवोकेट, ओमप्रकाश, सरबजीत आदि लोग उपस्थित थे।