(अतरौलिया) आजमगढ़ । भारत ही नहीं विश्व के अलग-अलग कोनों से लोग राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने के लिए अयोध्या आ रहे हैं, इनमें से कुछ राम भक्त ऐसे हैं जो कठिन से कठिन चुनौती को पार करके राम मंदिर पहुंच रहे हैं । उसी हिस्से के बलिया भृगु आश्रम से रामभक्त हिमांशु सिंह, प्रियांशु सिंह, रोहित और कृष्णा सिंह जो सैकड़ों किलोमीटर की पैदल यात्रा का प्रण कर अयोध्या के लिए निकल पड़े हैं। इस पैदल यात्रा में लोगों का अपार जन समर्थन भी प्राप्त हो रहा है। बलिया से पैदल चलकर मंगलवार को अतरौलिया पहुंचे, जहां लोगों ने स्वागत किया। हिमांशु सिंह ने बताया कि
भगवान श्री राम ने 14 साल के वनवास में पैदल यात्रा की थी। भगवान राम अयोध्या से लेकर श्रीलंका, पैदल गए थे. ऐसे में बड़ी चुनौतियों और लंबी लड़ाई के बाद जब श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा होने जा रही है । कहा कि 22 जनवरी को भगवान श्री राम के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा हो तो उस क्षण का साक्षी बनने के लिए हम सभी वहां मौजूद हों, इसके लिए अगर उन्हें रात-दिन भी पैदल चलना पड़े तो इसके लिए भी तैयार हैं । अपनी आंखों में मंदिर का दृश्य और मन में प्रभु श्री राम की छवि लेकर चल रहे हैं। हिमांशु सिंह ने बताया कि यह प्रभु श्री राम की देन है कि हम लोग भृगु बाबा मंदिर से वहां की मिट्टी और जल लेकर अयोध्या जा रहे हैं और रामलाल का दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त होगा।