प्रयागराज/आजमगढ़ । आजमगढ़ का दुर्दांत अपराधी ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू सिंह सहित तीन अपराधियों की जमानत अर्जी हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है, इसके अलावा कोर्ट ने 6 अपराधियों की जमानत अर्जी को अग्रिम सुनवाई के लिए सुरक्षित रखा है, बता दें कि सगड़ी विधानसभा के लोकप्रिय पूर्व विधायक सर्वेश सिंह उर्फ सीपू सिंह की हत्या में यह सभी अपराधी शामिल रहे हैं, कुंटू सिंह सहित तीन अपराधियों की जमानत अर्जी खारिज होने के बाद उसके चाहने वालों में मायूसी व्याप्त है, बता दें कि एक समय ऐसा था की आजमगढ़ सहित पूर्वांचल के अन्य जनपदों में दुर्दांत अपराधी कुंटू सिंह और उसके गैंग के लोगों की तूती बोलती थी, और कुंटू सिंह ने जेल में रहते हुए साजिश करके 19 जुलाई 2013 को उस समय पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू की हत्या करवा दी, जब वह अपने आवास पर लोगों की समस्या सुन रहे थे, उस दौरान बदमाशों ने सर्वेश सिंह उर्फ सीपू व उनके सहयोगी भारत राय की भी गोली मार की हत्या कर दी थी, और इस मामले में जनता इतनी आंदोलित हुई की सड़क तक जाम कर दी, और पुलिस को भीड़ को काबू करने के लिए गोली चलानी पड़ी, जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी, और कई लोग अपंग हो गए थे, इस मामले में सीबीआई ने जांच की, और सर्वेश सिंह सीपू की पत्नी वंदना सिंह व उनके जेठ संतोष सिंह टीपू ने न्यायालय में परवी की, और आखिरी तक पैरवी करने का नतीजा रहा की, जिला सत्र न्यायालय से कुंटू सिंह सहित कुल 11 अपराधियों को आजीवन करार कारावास की सजा हुई, बता दें कि इस समय अपराधिक कुंटू सिंह कासगंज जेल में बंद है, और इन अपराधियों ने हाई कोर्ट में जमानत की अर्जी लगाई थी, और हाईकोर्ट ने सुनवाई के बाद जहां कुंटू सिंह सहित तीन अपराधियों मृत्युंजय सिंह उर्फ विक्की व दिनेश सिंह की जमानत अर्जी खारिज कर दी, वहीं हत्या में शामिल 6 अपराधियों की जमानत अर्जी को रिजर्व रखा है ।