(सगडी) आजमगढ़ । सगड़ी तहसील क्षेत्र के नत्थूपुर गांव के कारगिल शहीद रमेश यादव को प्रशासन ने भले ही भुला दिया हो, लेकिन सामाजिक कार्यकर्ता इफ्तिखार आजमी ने प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी इस शहीद की दोनो असहाय बहनो को रविवार को खिचड़ी भेंट की, बता दें कि नत्थूपुर निवासी रमेश यादव कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तानी फौज से लड़ते हुए शहीद हो गए थे, रमेश यादव के शहादत के समय प्रशासन ने अनेक सहायता मुहैया कराने का वायदा किया था, लेकिन सगड़ी के शहीद के प्रति प्रशासन द्वारा किए गए वायदे अधिकांश खोखले साबित हुए, परिवार में मात्र एक कमाऊ सदस्य रमेश यादव के शहीद हो जाने के बाद इस परिवार पर विपत्ति का बादल छा गया, पुत्र की पीड़ा को बर्दाश्त न कर पाने के कारण रमेश की माता- भी असमय मृत्यु को प्राप्त हो गए, रमेश की दो बहने शशि कला और चंद्रकला पूरी तरह से असहाय हो गई । क्षेत्र के लोगों ने समय समय पर मदद कर इस परिवार को संभालने का जिम्मा लिया, इसी क्रम में सामाजिक संस्था से जूटे इफ्तिखार आजमी ने शहीद की बहनों को अपनी बहन का दर्जा देते हुए प्रतिवर्ष मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी भेंट करने का वायदा किया, जो आज तक अनवरत पूरा करते चले आ रहे हैं, रविवार को इफ्तेखार आजमी नत्थूपुर गांव में जाकर शहीद की दोनों बहनों को खिचड़ी और वस्त्र तथा पूर्ण श्रृंगार की वस्तुएं सौंपी, इफ्तिखार आजमी द्वारा प्रतिवर्ष की जा रही नेक पहल की लोग काफी सराहना करते हैं।