आजमगढ़ । पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने अन्तर्प्रान्तीय फर्जी गोल्ड लोन कराने वाले 4 अभियुक्तों की गिरफ्तारी व बरामदगी करने वाली पुलिस टीम को नकद पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया । बता दें कि थाना मुबारकपुर, कंधरापुर व थाना कोतवाली पर फर्जी गोल्ड लोन कराने वाले अभियुक्तों के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत था, विवेचना के दौरान अन्तर्प्रान्तीय फर्जी गोल्ड लोन कराने वाले 04 सदस्यों का नाम प्रकाश में आया । अभियुक्त जो राजाराम तिवारी पुत्र चन्द्रिका प्रसाद तिवारी नि0 पल्टी जोत थाना परशुरामपुर जनपद बस्ती, विजय प्रताप वर्मा पुत्र चन्द्रिका प्रसाद नि0 परसहवा बैजलपुर थाना परशुरामपुर जनपद बस्ती, रमेश कुमार वर्मा पुत्र तिलकराम वर्मा नि0 मिसरौलिया धीरा थाना परशुरामपुर जनपद बस्ती, सुनील कुमार वर्मा उर्फ पप्पू सोनार पुत्र स्व0 बब्बन प्रसाद नि0 जापलीनगंज थाना कोतवाली जनपद बलिया के पास से सोने के आभूषण (कीमत लगभग 12 लाख रूपये) दिनांक-15.01.2024 को अपर पुलिस अधीक्षक नगर शैलेन्द्र लाल व सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी सदर शुभम अग्रवाल के कुशल पर्यवेक्षण में पुलिस संयुक्त टीम (थाना मुबारकपुर, कोतवाली, स्वाट व सर्विलांस) बरामदगी कर गिरफ्तारी करते हुए जेल भेजा गया था। उसी सम्बन्ध में दिनांक- 20.01.2024 को पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य द्वारा कैम्प कार्यालय में अन्तर्प्रान्तीय फर्जी गोल्ड लोन कराने वाले 04 सदस्यों की गिरफ्तारी व बरामदगी करने वाली पर्यवेक्षण अधिकारी व पुलिस संयुक्त टीम को नकद पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया । पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने जिन अधिकारियों को सम्मानित किया उसमें अपर पुलिस अधीक्षक नगर शैलेन्द्र लाल, स0पु0अ0/क्षेत्राधिकारी सदर शुभम अग्रवाल, स्वाट टीम प्रभारी निरीक्षक नन्द कुमार तिवारी, उ0नि0 संजय सिंह, उ0नि0 सुरेश सिंह, का0 सोनू यादव, का0 कलामुद्दीन, उ0नि0 लालबहादुर बिन्द, का0 अभय कुमार सिंह, का0 शैलेन्द्र प्रसाद, मु0आ0 अमित सिंह, मु0आ0 पवन यादव, मु0 आ0 धर्मेन्द्र यादव, का0 अरूण पाण्डेय, का0 सुनील प्रजापति, का0 अवनीश सिंह, स्वाट टीम जनपद आजमगढ़ व मुख्य आ0 संजय सिंह, मु0आ0 चन्द्रमा मिश्रा सर्विलांस सेल आजमगढ़ शामिल हैं ।