(अतरौलिया) आजमगढ़ । क्षेत्र के पकरडीहा गांव के पास स्थित पचहुआ ताल में 16 वर्षीय एक लड़की की बाडी मिलने से सनसनी फैल गई, लड़की का दोनों पर बढ़ा हुआ था, और 29 दिसंबर की रात से लापता थी । बता दें कि रविवार की देर शाम लगभग 5:30 बजे अपने खेत में गेहूं की सिंचाई कर रहे कुछ लोगों ने बगल में स्थित पोखरी में एक शव उतराई हुई देखी, तो धीरे-धीरे सूचना क्षेत्र में फैल गई। बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होकर इसकी सूचना थाना अध्यक्ष अतरौलिया को दिया। मौके पर पहुंचे थाना अध्यक्ष अतरौलिया सविंद्र राय ने पुलिस टीम के साथ शव को तालाब से निकलवाया तो शव लड़की का था, जिसका दोनों पैर बधा हुआ था, काफी दिनों का शव लग रहा था, पानी में किसी पत्थर से डुबोई गई थी। मौके पर मौजूद ग्राम समडीह थाना राजेसुल्तानपुर निवासी अनिल कुमार जो वहाँ मौजूद रहे, उन्होंने उस शव की पहचान अपनी पुत्री निधि उम्र लगभग 16 वर्ष के रूप में की । अनिल कुमार ने बताया कि उसकी पुत्री निधि जो इंटरमीडिएट की छात्रा थी। 29 दिसंबर को रात 10:30 बजे अपने घर से लापता हुई, तो पचरी भवनाथपुर चौराहे से कुछ लोग उसे अगवा करके फरार हो गए थे। इस संदर्भ में उसने थाना राजेसुल्तानपुर में प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन पुलिस टाल मटोल करके दोषियों को बचाने में जुटी रही। बड़ी संख्या में आक्रोशित ग्रामीणों ने भी पुलिस पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया। पीड़ित अनिल कुमार ने बताया कि वह कई बार पुलिस अधीक्षक अंबेडकर नगर को प्रार्थना पत्र दिया जिससे संबंधित थाना उसके ही खिलाफ हो गया था। मौके पर लाश मिलने से परिवार के लोगों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया । थानाध्यक्ष अतरौलिया सविंद्र राय शव को कब्जे में लेकर विधिक कार्रवाई शुरू कर दी। पूरे घटना में थानाध्यक्ष राजे सुल्तानपुर पर पीड़ित परिवारों ने गुंडागर्दी करने का भी आरोप लगाया। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर मोर्चरी हाउस अतरौलिया रखवा दिया, जिसे कल सुबह पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा।