रिपोर्ट, विनय शंकर राय । लालगंज (आज़मगढ़ ) (CO karyalay) क्षेत्राधिकारी कार्यालय में कार्यरत आरक्षी उमेश यादव व होमगार्ड राजेश कुमार गौड़ को पंद्रह हजार रुपये घूस लेते हुए मंगलवार को दोपहर में भ्रष्टाचार निवारण संगठन की टीम ने गिरफ्तार कर सिधारी थाने में ले जा कर मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया, एंटी करप्शन टीम की कार्यवाही से सभी कार्यालयों में हड़कम्प मच गया। जानकारी के मुताबिक देवगांव कोतवाली क्षेत्र के मसीरपुर निवासी सूरज प्रताप पुत्र फागू राम ने प्रयास के माध्यम से भ्रष्टाचार निवारण संगठन से आरक्षी के घूस माँगने की शिकायत किया था । भ्रष्टाचार निवारण संगठन की एक दर्जन लोगों की टीम मंगलवार को शैलेन्द्र सिंह निरीक्षक के नेतृत्व में गवाहों को ले कर तहसील में स्थित क्षेत्राधिकारी कार्यालय के पास घेराबंदी कर सूरज प्रताप को घूस की रकम देने के लिए भेजा, कार्यालय के बाहर आ कर घूस की रकम लेते ही आरक्षी उमेश यादव व होमगार्ड राजेश कुमार गौड़ को को टीम के लोगों ने दबोच कर अपने वाहन में बैठा कर जिला मुख्यालय पर स्थित सिधारी थाने ले जा कर मुकदमा लिखकर हवालात में डाल दिया। उमेश यादव आरक्षी वाराणसी जनपद के बड़ागांव थाना क्षेत्र के चक्का गाँव का तथा होमगार्ड देवगांव कस्बा का निवासी है ।गिरफ्तार करने वाली टीम में शैलेन्द्र सिंह निरीक्षक टीम प्रभारी, श्याम बाबू निरीक्षक, कैलाश चंद निरीक्षक, हरिबंश कुमार शुक्ला निरीक्षक, सुखबीर सिंह निरीक्षक, विकास कुमार जायसवाल मुख्य आरक्षी, कौशल कुमार राय मुख्य आरक्षी, ओंकार सिंह यादव मुख्य आरक्षी, आनन्द कुमार आरक्षी, अमित सिंह आरक्षी, जितेंद्र कुमार आरक्षी चालक, विनय यादव आरक्षी चालक शामिल थे। एंटी करप्शन की इस कार्रवाई से पुलिस कर्मियों में हड़कम्म मचा हुआ है।