एक मास्टरमाइंड को रसड़ा पुलिस पहले ही कर चुकी है गिरफ्तार

परीक्षा के वक्त दो मुन्ना भाई गिरफ्तार

रसड़ा से एक, बांसडीहरोड से एक व थाना कोतवाली से 12 अभियुक्त गिरफ्तार

अब तक गैंग व मुन्ना भाई समेत 14 हो चुके है गिरफ्तार

दोनों अभ्यर्थियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज, एक गिरफ्तार, एक फरार

 

 

बलिया। उप्र पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा के तीन गैंग के 11 गैंग मेंबर को जनपदीय पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके अलावा दो मुन्ना भाई को भी गिरफ्तार किया गया जो दूसरे अभ्यर्थी के जगह बैठकर परीक्षा दे रहे थे। जबकि एक मास्टरमाइंड को रसड़ा पुलिस परीक्षा से पहले ही रसड़ा से गिरफ्तार कर लिया था। इस प्रकार गैंग और मुन्ना भाई समेत कुल 14 आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका हैं। इन गैंग्स के संपर्क में आने वाले सभी अभ्यर्थियों की परीक्षा केंद्रों में विशेष रूप चेक किए गए और पुलिस की पैनी नजर रही। पकड़े गए अभियुक्तों के विरुद्ध संबंधीत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है। इसके अलावा दोनों अभ्यर्थियों के विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज कर एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि दूसरा फरार चल रहा है।

पकड़े गए अभियुक्त में प्रथम गैंग के अभय कुमार श्रीवास्तव पुत्र स्व विश्वनाथ प्रसाद निवासी जेपी नगर गडवार रोड थाना कोतवाली बलिया, विनित कुमार राम पुत्र स्व सुदामा राम निवासी मिसरौली थाना पकड़ी बलिया, रुकुमकेश पाल उर्फ मुन्ना पाल पुत्र स्व शिवलगन पाल निवासी मडया थाना कोतवाली आजमगढ को गिरफ्तार किया। जबकि दूसरे गैंग के फतेहबहादुर राजभर पुत्र दीनानाथ राजभर निवासी पहाड़पुर थाना हलधरपुर मऊ, अजीत यादव पुत्र शिवजनक यादव निवासी गौरनिया थाना पकड़ी बलिया, वरुण कुमार यादव पुत्र रामप्रवेश यादव निवासी विसुकिया थाना गड़वार बलिया तथा तीसरे गैंग के

अमित यादव पुत्र लोकनाथ यादव निवासी पाण्डेयपुर थाना फेफना बलिया, विशाल यादव पुत्र विनोद यादव निवासी तीखा थाना फेफना बलिया, अंकित यादव पुत्र हरेराम यादव निवासी पहाडपुर चिलकहर थाना रसडा बलिया, निखिल यादव पुत्र राजेश यादव निवासी बिसुकिया थाना गडवार बलिया, गिरजाशंकर पुत्र रामनाथ बरवा थाना भीमपुरा बलिया को गिरफ्तार किया। इस प्रकार तीनों गैंग के कुल 11 अभियुक्त गिरफ्तार किए गए है। इसके अलावा शहर कोतवाली पुलिस ने गुलाब देवी स्नातकोत्तर महाविद्यालय बलिया से मनीष कुमार यादव पुत्र बैजनाथ यादव निवासी करियारपुर मासूमपुर थाना खेजूरी को गिरफ्तार किया जो अभ्यर्थी उपेन्द्र यादव के स्थान पर बैठकर परीक्षा दे रहा था। इसी प्रकार बांसडीह रोड पुलिस ने रामदहीन सिंह इंटर कॉलेज आमघाट बलिया से अजय कुमार यादव पुत्र अशोक कुमार यादव निवासी थमसेना थाना सौर बाजार जिला सरसा बिहार को गिरफ्तार किया जो अंगद साहनी पुत्र हीरालाल साहनी निवासी टंगुनिया थाना उभाव जनपद बलिया के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। जबकि रसड़ा पुलिस ने पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा होने से पहले ही मास्टरमाइंड सलीम अंसारी पुत्र नईमुद्दीन अंसारी निवासी वार्ड नंबर 21 उत्तर पट्टी थाना रसड़ा जनपद बलिया को गिरफ्तार कर चुकी है। इस प्रकार कुल 12 मास्टरमाइंड और दो मुन्ना भाई समेत 14 लोगों को सर्विलांस सेल, साइबर सेल, अभिसूचना इकाई व सोशल मीडिया सेल के सहयोग से एसओजी/सर्विलांस टीम व जनपदीय पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसके अलावा दोनों अभ्यर्थियों के विरुद्ध भी संबंधीत धारा में मुकदमा दर्ज कर अभ्यर्थी उपेंद्र कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अंगद कुमार अभी फरार चल रहा है
एसपी की बाइट…
— 16 फरवरी को उत्तर प्रदेश पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा से पूर्व रसड़ा से मास्टरमाइंड सलीम अंसारी अभियुक्त को पुलिस ने गिरफ्तार किया था जिसके पास से काफी चीजे बरामद हुई थी। इसके बाद से पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही थी। जिसका नतीजा रहा कि 17 फरवरी को तीन गैंग के 11 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया जो परीक्षा के दौरान फर्जीवाड़ा करने वाले थे। इनके पास से ब्लूटूथ, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड, ब्लैंक चेक सहित नकदी रुपए बरामद किए गए। इन सबके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जा रही है। इसके साथ ही दो और अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है जो दूसरे के स्थान पर बैठकर परीक्षा दे रहे थे। इनके और अभ्यर्थियों के विरुद्ध भी कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

अभियुक्तों के पास से यह हुआ बरामद
बलिया। अभियुक्तों के पास से एक लाख 220 रुपया नकद तथा
46 अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र, 22 मूल अंक प्रमाण पत्र/सनद व 16 ब्लैंक चेक, एक वाकी टाकी सैट, दो इलेक्ट्रानिक डिवाइस, एक ब्लूटूथ, दो डिवाइस बैट्री, 02 सिम, एक आधार कार्ड, एक एटीएम कार्ड, एक डीएल बरामद बरामद किया गया।
इनसेट…

गैंग 01- अभय कुमार श्रीवास्तव….

पकड़े गए गैंग के अभियुक्त अभय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि हम लोग उत्तर प्रदेश पुलिस आरक्षी भर्ती की परीक्षा दे रहे अभ्यर्थियों को भर्ती कराने का झांसा देकर उनसे ब्लैंक चेक और उनकी मूल अंक पत्र मय आधार कार्ड व एडमिट कार्ड की छायाप्रति लिए है। इनसे भर्ती होने के बाद इन ब्लैंक चैकों में 10,00,000 रुपये प्रति कन्डिडेट की योजना बनाए थे। आज वही सर्टिफिकेट व कागजात परीक्षा समाप्त होने के बाद लड़कों से प्राप्त हुआ। जिसे हम लोग यहीं चन्द्रशेखर नगर पार्क के पास इकट्ठा कर रहे थे कि अचानक आप लोगों द्वार पकड़ लिए गए। यह सर्टिफिकेट किसी को न तो देना था और न ही किसी माध्यम से भर्ती कराने की बात है। जब परीक्षा परिणाम आयेगा तो कुछ अभ्यर्थी अपने आप चयनीत हो सकते हैं। तब उनका पैसा हम लोग प्राप्त करके आपस में मिलकर बांट लेते।
गैंग 02- फतेह बहादुर….

अभियुक्त फतेहबहादूर ने बताया कि अभ्यर्थियों को भर्ती कराने के नाम पर अभ्यर्थियों से पैसा वसूलने के फिराक में थे, हमलोग इस काम को प्रदीप यादव के माध्यम से कराने वाले थे। प्रदीप यादव के मोबाईल नम्बर पर काल की गयी तो उसका नम्बर स्विच आफ मिला। गहनता से पूछताछ में पता चला कि यह एक संगठित फ्राड व्यक्तियों का समूह है। जिनके द्वारा उत्तर प्रदेश पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों से धोखाधड़ी कर पैसा वसूलने का कार्य किया जाता है।
गैंग 03- गिरजाशंकर….

पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि हम सभी लोग एक राय होकर अभ्यर्थियों को बहला फुसलाकर उनके कान में ब्लूटूथ लगाकर परीक्षा केन्द्र पर भेजते हैं और वहीं से पेपर आउट कराकर साल्व करके उन सभी प्रश्नों का उत्तर उन अभ्यर्थियों को भेजते हैं। हम लोगों द्वारा पुलिस परीक्षा, UP-TET परीक्षा, C-TET परीक्षा, PET परीक्षा के परीक्षार्थीयों को परीक्षा में चयन कराने का झांसा देकर सात रुपए प्रत्येक कैंडिडेट से लेते हैं और इन सब रुपयों को आपस में बाट लेते हैं। पुलिस भर्ती परीक्षा में भी 20-25 परीक्षार्थीयों से पैसा लिया गया है। जिनको ब्लूटूथ व वाकी टाकी व इलैक्ट्रानिक डिवाईस के माध्यम से नकल कराने की बात बताई गई। बताया कि हम लोगों के साथ और लोग भी काम करते हैं। जिनमें मऊ, हलधरपुर के रहने वाले शैलेश यादव व ज्वाला चौहान हैं, लेकिन उनका पता ज्ञात नहीं है। अनूप यादव पुत्र लोकनाथ यादव निवासी पाण्डेयपुर थाना फेफना जनपद बलिया के साथ हम लोगों की आपस में मीटिंग की गयी थी और उसी मीटिंग में तय हुआ था कि किसको क्या काम करना है, उसी के अनुसार वाकी टाकी और सभी इलेक्ट्रानिक डिवाईस उन तीनों द्वारा हम सभी को उपलब्ध करायी जाती है और हम पेपर के समय सेन्टर के पास रहकर इस डिवाइस के माध्यम से पेपर सॉल्व करते हैं। लेकिन हम सभी पकड़ लिए गए।
मुन्ना भाई 01-

– मनीष कुमार यादव पुत्र बैज नाथ यादव निवासी आरजी करियारपुर थाना खेजुरी बलिया अभ्यर्थी उपेन्द्र यादव के स्थान पर बैठकर परीक्षा दे रहा था।
मुन्ना भाई 02-

अजय कुमार यादव पुत्र अशोक कुमार यादव निवासी थमसेना थाना सौर बाजार जिला सरसा बिहार अभ्यर्थी अंगद साहनी पुत्र हीरालाल साहनी निवासी टंगुनिया थाना उभाव जनपद बलिया के स्थान पर परीक्षा दे रहा था।
इनसेट…
इनके विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज
–अभ्यर्थी अंगद साहनी पुत्र हीरालाल साहनी निवासी टंगुनिया थाना उभाव जनपद बलिया तथा

उपेन्द्र कुमार यादव पुत्र बैजनाथ यादव निवासी करियापर मसुमपुर थाना खेजुरी बलिया के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया। वहीं अभ्यर्थी उपेंद्र को पुलिस ने गिरफ्तार किया।
गैंग के दो सरगना करते हैं सरकारी नौकरी

बलिया। उत्तर प्रदेश पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा 2024 में जनपदीय पुलिस द्वारा पकड़े गए गैंग नंबर एक का मुख्य सरगना अभय कुमार श्रीवास्तव सुल्तानपुर जिले में स्वास्थ्य विभाग में लैब टेक्नीशियन के पद पर तैनात है। जबकि गैंग नंबर दो का मुख्य सरगना फतेबहादुर मध्य प्रदेश के कटनी जिले में कांस्टेबल के पद पर तैनात है। वहीं गैंग नंबर तीन का मुख्य सरगना गिरजाशंकर ब्लूटूथ, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आदि के माध्यम से अपने सहयोगियों के साथ इस प्रकार की परीक्षाओं में फर्जीवाड़ा करने तथा अभ्यर्थियों से बहला फुसलाकर नौकरी दिलाने के नाम पर पैसा ऐठने का काम करते हैं। यही काम गैंग नंबर एक और दो के भी सदस्य दलाली के माध्यम से काम करते हैं।