यूपी के आजमगढ़ में एंटी करप्शन टीम ने सोमवार को एडी बेसिक कार्यालय में तैनात असिस्टेंट क्लर्क मनोज कुमार श्रीवास्तव को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, बता दें कि एंटी करप्शन यूनिट ने शिकायत के आधार पर कार्रवाई की, और लिपिक को रंगे हाथों अरेस्ट कर लिया है, एंटी करप्शन टीम के आजमगढ़ यूनिट प्रभारी सुखवीर सिंह भदौरिया के मुताबिक क्लर्क के अलावा एडी बेसिक मनोज कुमार मिश्रा के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज किया गया है, बता दें कि बलिया जिले के रहने वाले राजीव कुमार सिंह ने जिले की एंटी करप्शन टीम को शिक्षा विभाग कार्यालय में रिश्वतखोरी की शिकायत की थी, शिकायतकर्ता राजीव ने पत्र लिखकर आरोप लगाया था, कि आजमगढ़ एडी बेसिक कार्यालय में जब वे अपने कक्षा 6 से 8 तक स्कूल के लिए मान्यता का आवेदन लेकर पहुंचे तो उनसे रिश्वत मांगी गई, राजीव ने आरोप लगाया कि एडी बेसिक कार्यालय में तैनात क्लर्क मनोज कुमार श्रीवास्तव ने मान्यता दिलाने के नाम पर 1 लाख 40 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी, यह पूरा मामला जब आजमगढ़ की एंटी करप्शन यूनिट के पास पहुंचा, तो उन्होंने पूरी तैयारी के साथ एडी बेसिक कार्यालय पर सोमवार को छापेमारी की, तय रकम जब क्लर्क को दिया गया तो नोट पर पहले से लगे केमिकल की वजह से लिपिक के हाथ का रंग लाल हो गया और तत्काल टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया, बता दें कि गिरफ्तार क्लर्क आजमगढ़ के जाफरपुर का रहने वाला है।