(अतरौलिया) आजमगढ़ । स्थानीय थाना क्षेत्र के भगवानपुर गांव निवासी रिटायर्ड दरोगा जगन्नाथ यादव पुत्र बिल्लू यादव के घर शनिवार को दोपहर लगभग 12:00 बजे के करीब एक पल्सर मोटरसाइकिल पर दो युवक अपने आप को पतंजलि का एजेंट बताते हुए पीड़ित के घर पर रुके, और बात करने लगे । तथाकथित एजेंट परिजनों को अपनी बातों से प्रभावित कर पहले उनसे तांबे का बर्तन साफ करने के लिए मंगाया, और उसे साफ भी किया, फिर चांदी का पायल मंगा कर उसे भी साफ किया, कि इसी दौरान सोने के आभूषण को भी साफ करने की बात कही । और पीड़ित के घर से कुछ आभूषण सोने की चेन कान का टप्स आदि लेकर एक गहरे बर्तन में डाल दिया, और उसे ऊपर से ढक्कन बंद कर घर में कुछ देर रखने को बोला । पीड़ित परिजन जब उस गहरे बर्तन को घर के अंदर रखने गए तो ढक्कन खोल कर देखा तो सोने के सभी आभूषण गायब मिले। इसी दौरान रिटायर्ड दरोगा जगन्नाथ यादव मोटरसाइकिल से कुछ दूर पीछा किया । लेकिन जालसाजों का कहीं पता नहीं चला। ठगी का शिकार होने पर रिटायर दरोगा ने इसकी सूचना थानाध्यक्ष को दी । मौके पर पुलिस पहुंचकर घटना की जांच में जुट गई । समाचार लिखे जाने तक पीड़ित की तरफ से कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई है। पीड़ित रिटायर दरोगा ने बताया कि अपने आप को पतंजलि का एजेंट बताने वाले दो लोग लगभग 8 लाख रुपए कीमत के गहने उठा ले गए जिसमे सोने की चैन व महिलाओं के आभूषण थे।