बाडी पर खून के छिंटे और हथेली पर मिट्टी होने से हत्या की आशंका

मंदिर के समीप बन रहे अवैध कच्ची शराब के विरोधी थे

पुजारी,पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सुलझेगी मौत की गुत्थी

रिपोर्ट संवाददाता रेवती शिवसागर पांडेय  

रेवती(बलिया)।बांसडीह तहसील क्षेत्र के बड़सरी ग्राम सभा में सुप्रसिद्ध अवनी नाथ शिव मंदिर के पुजारी 65 वर्षीय राजनाथ तिवारी उर्फ श्रींगारी दास का भट्ठे के निकट गड्ढे में मंगलवार के दिन शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गयी।लोगो ने बाडी पर खून के छिंटे से हत्या की आशंका व्यक्त की है।मंदिर के समीप बन रहे अवैध कच्ची शराब का वे सदैव विरोध करते थे।
बताया जाता है कि सोमवार की सायं 4 बजे से रहस्मय ढ़ंग से गायब थे।जबकि नित्य सुबह 4 बजे घर से मंदिर आते थे तथा रात में राग भोग लगा कर घर चले जाते थे।उनका अपना परिवार नही है।घर पर भत्तीजा त्रिवेणी व आशीष देख रेख करते थे।रात से ही दोनो लोग चाचा की खोजबीन कर रहे थे।इसी बीच मंगलवार की सुबह जंगल की आग की तरह शव की खबर से सनसनी फैल गयी।ग्रामीणो की सूचना पर कोतवाल बांसडीह स्वतंत्र कुमार सिंह दलबल के साथ मौके पर पहुंचे तथा शव को सिल कर पोस्टमार्टम हेतु बलिया भेजा।उधर फारेसिक पुलिस टीम मौके से सबूत इक्कठे किए।पुलिस का कहना है कि मौत की गुत्थी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही साफ होगी।वैसे सभी एंगल से मामले की छानबीन की जा रही है।दोषी लोगो को जल्द दबोच लिया जाएगा।इस मामले में पुजारी से किसी की दुश्मनी नही थी।ऐसे में हत्यारा कौन और घटना के पीछे वजह क्या थी वह पुलिस की जांच के बाद ही स्पष्ट होगा।इस घटना से आध्यात्मिक लोगो में रोष व्याप्त है।विधायक केतकी सिंह का घर भी मंदिर से मात्र कुछ ही दूरी पर है।