गाजीपुर से प्रदीप कुमार पांडेय की रिपोर्ट 

मुख्तारअंसारी की बांदा जेल में मौत, गाजीपुर मऊ आजमगढ़ में पुलिस को हाई अलर्ट का आदेश,

यूपी के बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की मौत हो गई है, मुख्तार अंसारी बांदा मेडिकल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था, बांदा मेडिकल कॉलेज की तरह जारी मेडिकल बुलेटिन में पुष्टि हुई है, मुख्तार अंसारी की कार्डियक अरेस्ट से मौत हुई है, वहीं मौत की खबर सुनने बाद सुबह उनके घर पर शुभचिंतकों की भीड़ लगी हुई है, इस दौरान मुख्तार के बेटे व उनके भाई ने लोगों से संयम बरतने की अपील करतेहुए घर से चले जाने चलेजाने की बात कही, बता दें कि मुख्तार अंसारी को बेहोशी की हालत में रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां नो डॉक्टर ने इलाज किया, लेकिन मुख्तार अंसारी को बचाया नहीं जा सका, जानकारी के मुताबिक गाजीपुर के काली बाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा, मुख्तार की मौत के बद बांदा मेडिकल कालेज सुरक्षा बढ़ा दी गई है, इसके अलावा मऊ और गाजीपुर में भी सुरक्षा बढ़ाई गई है, परिवार को जैसे ही मुख्तार अंसारी की मौत की सूचना मिली परिवार के लोग बांदा के लिए रवाना हो गए, मुख्तार के बड़े बेटे अब्बास अंसारी की पत्नी निखत और अफजाल अंसारी गाजीपुर से बांदा के लिए रवाना हुए, मुख्तार अंसारी पर 65 से ज्यादा मुकदमें दर्ज थे, 21 सितंबर 2002 को पहली बार सजा हुई थी, 2 केस में उम्र कैद की सजा हुई थी, 17 महीने में 8 बार सजा हुई थी, मुख्तार की मौत की सूचना के बाद मुहम्मदाबाद में मुख्तार के पैतृक घर में लोगों का इकट्ठा होना शुरू हो गया है, मुख्तार के घर के आसपास पुलिस फोर्स तैनात की गई है, गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़ पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं, इसके अलावा सोशल मीडिया में अफवाह, भड़काऊ, या आपत्तिजनक पोस्ट पर कार्यवाई के निर्देश दिए गए हैं, इसके अलावा मुख्यमंत्री आवास पर देर रात बड़ी बैठक चली, जिसमें डीजीपी प्रशांत कुमार, एडीजी एलओ अमिताभ यश मौजूद रहे । वही जानकारी शव के पोस्टमार्टम के बाद उनके घर गाजीपुर सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा ।