मुख्तार  अंसारी के घर फाटक के अंदर रात 1:15 पर शव को लाया गया, आज सुबह 10 बजे काली  बाग कब्रिस्तानमें उसे सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा, एंबुलेंस के अलावा केवल दो गाड़ियां ही अंदर जाने दी गईं, इन गाड़ियों में मुख्तार अंसारी का छोटा बेटा उमर अंसारी, बहू निखत के साथ परिवार के कुछ अन्य सदस्य मौजूद रहे, इस दौरान पहले से वाराणसी के डीआईजी ओपी सिंह, गाजीपुर के डीएम-एसपी और भारी पुलिस फोर्स मौजूद रही, बांदा से गाजीपुर की 400 किलोमीटर की दूरी काफिले ने करीब आठ घंटे में बिना कहीं रुके पूरी की, मुख्तार के शव को उनके पुश्तैनी घर गाज़ीपुर रात लगभग 1:15 पर लाया गया ।