जनाजे की नमाज में हजारों लोग हुए शामिल।

रिपोर्ट प्रदीप कुमार पाण्डेय 

गाजीपुर । मुख्तार अंसारी के शव को सुपुर्द -ए-खाक में भीड़ बहुत अधिक थी तथा कुछ लोग जनाजे के साथ चल रहे थे और हजारों की तायदाद में लोग काली बाग कब्रिस्तान के पास पहले से ही उपस्थित होकर उनके जनाजे का इंतजार कर रहे थे। भीड़ बहुत अधिक थी ।बताते चलें कि पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह तथा जिला अधिकारी आर्यका अखौरी ने लोगों से शांत रहने की अपील की। इसके बाद बड़े भाई अफजाल अंसारी ने भी लोगों से शांत रहने की अपील की। अंत में मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी ने अपने हाथ में माइक पकड़ा और लोगों से शांत रहने की अपील किया तथा बताया कि लोग शोर शराबा ना करें और शांत रहकर जनाजे में शामिल हो। इसके अतिरिक्त सभी लोगों को कब्रिस्तान से बाहर रोक लिया गया तथा पुलिस बल द्वारा केवल परिजनों को कब्रिस्तान के भीतर भेजा गया, जहां पर मुख्तार अंसारी के शव को सुपुर्द -ए-खाक किया गया। बाद में अन्य लोगों ने कब्रिस्तान में जाकर उन्हें मिट्टी दी। कुल मिलाकर मुख्तार अंसारी का शव सुपर्द-ए-खाक किया गया। मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी ने अपने पिता को इत्र लगाया।

जनाजे की नमाज क्षेत्र के प्रिंस टॉकीज सिनेमा हॉल के मैदान में अदा की गई। इस अवसर पर हजारों लोगों ने नमाज अदा की।नमाज अदा होने के बाद नागरिक उनके जनाजे को लेकर काली बाग कब्रिस्तान पहुंचे। बताते चलें कि उनके आवास से कब्रिस्तान की दूरी लगभग 300 मीटर है ।इसके अतिरिक्त भी भीड़ के कारण कब्रिस्तान पहुंचने में काफी समय लगा ।बताते चलें कि उनके जनाजे के साथ करीमुद्दीनपुर, ताजपुर डेहमा, रेवतीपुर, पखनपुरा, बालापुर के अलावा अन्य क्षेत्रों से भी जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।