जनपद संवाददाता प्रदीप कुमार पाण्डेय ।

गाज़ीपुर। मुख्तार अंसारी की मृत्यु के बाद कल जब मोहम्मदाबाद के काली बाग में उनके शव को सुपुर्द -ए-खाक कर दिया गया ,उसके बाद आज रविवार को स्थिति सामान्य हुई। चारों तरफ लोग मुख्तार अंसारी की एक झलक पाने के लिए परेशान थे। नेता तथा गणमान्य नागरिकों के साथ-साथ अन्य क्षेत्र से आने वाले लोगों का ताता लगा रहा। सभी लोग जाकर अंसारी परिवार से मिले और उन्हें सांत्वना देते हुए शोक संवेदना प्रकट की। इसी क्रम में स्वामी प्रसाद मौर्य भी आज रविवार दोपहर लगभग 12:30 बजे अफजल अंसारी से मिलने के लिए उनके आवास पर पधारे। उन्होंने अंसारी परिवार को ढांढस बंधाया व शोक संवेदना प्रकट की। पत्रकारों से रूबरू होते हुए पत्रकारों के पूछने पर उन्होंने कहा कि हम लोग लंबे समय तक एक साथ काम कर चुके हैं ।वे कई बार विधायक भी रहे हैं लेकिन जिस तरह से सरकारी तंत्र में संपूर्ण नैतिकता ताक पर रखकर उनके साथ काम किया गया है वह अत्यंत निंदनीय है। आज पूरे प्रदेश में सरकारी अराजकता का बोलबाला है। आम जनता पूरी तरह परेशान है। हम अपराधी हैं या नहीं यह काम माननीय न्यायपालिका को करना होता है।